Category: स्वास्थ्य

मुर्गासन 0

मुर्गासन / मुर्गा-आसनात्मक क्रिया – विधि , लाभ और सावधानियां |

पहले स्कुलों में विद्यार्थियों को मुर्गा बनाया जाता था और आज भी यह क्रिया बहुत सी स्कुलों मे विद्यार्थियों को दण्ड देने के लिए अपनाई जाती है। जी हाँ यह वही मुर्गा बनने का...

बायोटिन 0

बायोटिन – क्या है ? इसके कार्य और शरीर पर प्रभाव

बायोटिन  बायोटिन को Vitamin – H भी कहा जाता है | यह सामन्यतय विटामिन b-complex का ही हिस्सा है जो वसा में घुलनशील है | यह विटामिन शरीर में कार्बोज और वसा के संस्लेषण...

धनुरासन 0

धनुरासन – करने की विधि, लाभ और सावधानियां

धनुरासन धनुरासन का अर्थ होता है धनुष के समान। धनुर और आसन शब्दों के मिलने से धनुरासन बनता है। यहां धनुर का अर्थ है धनुष। इस आसन में साधक की आकृति धनुष के समान...

भुजंगासन 0

भुजंगासन – विधि , सावधानियां और फायदे

भुजंगासन भुजंगासन दो शब्दों से मिलकर बना है – भुजंग + आसन । भुजंग का अर्थ होता है नाग या सर्प। इस आसन की आकृति फन उठाये सांप की तरह होती है इसीलिए इसे...

गोमुखासन 0

गोमुखासन – गोमुखासन करने की विधि , प्रकार और फायदे

गोमुखासन  गोमुखासन का अर्थ है गाय के मुख के समान आकृति वाला आसन। इस आसन में गाय के मुहं के समान एक सिरे पर पतला और दूसरे सिरे पर चैड़ा जैसी आकृति बनानी पड़ती...

सर्वांगासन 0

सर्वांगासन – विधि , फायदे और सावधानियां

सर्वांगासन परिभाषा- सर्वांगासन शब्द का संधि विच्छेद करने पर यह सर्व+अंग+आसन से मिलकर बना है। सर्व का अर्थ होता है सभी या पूरा और अंग का अर्थ हम शरीर से लेते हैं तो इसका...

अष्टांग योग 1

अष्टांग योग – क्या है , इसके अंग और फायदे

अष्टांग योग  योगसूत्र के जनक पतंजली ने अष्टांग योग की परिकल्पना हमारे सामने प्रस्तुत की है। इन्होने योग के सभी अंगो को मिलाकर अष्टांग योग का रूप दिया। अष्टांग योग का अर्थ है योग...

मकरासन 0

मकरासन -विधि, लाभ , कमर दर्द एवं सर्वाइकल से मुक्ति

परिभाषा – मकर नाम मगरमच्छ का ही एक प्रयाय है। मकरासन में जलज प्राणी मगरमच्छ की तरह ही आकृति बनानी पड़ती है। तभी इसे मकरासन नाम दिया गया है। ‘मकरासन’ का प्रयोग कमर दर्द,...

स्वेदन कर्म 0

स्वेदन कर्म / Sudation Therapy – परिचय , प्रकार और महत्व |

स्वेदन कर्म / Sudation Therapy आयुर्वेद की पंचकर्म चिकित्सा पद्धति में स्वेदन कर्म का विशिष्ट स्थान है। स्वेदन कर्म पंचकर्म का एक पूर्व कर्म है अर्थात रोगी व्यक्ति का पंचकर्म चिकित्सा पद्धति से इलाज...

मुलेठी 0

मुलेठी – एक चमत्कारिक औषधि एवं इसके फायदे |

परिचय  मुलेठी आयुर्वेद की एक प्रसिद्ध जड़ी-बूटी अर्थात एक प्रसिद्ध औषधी है। आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में मुलेठी का इस्तेमाल कफज और पितज रोगों के निदानार्थ किया जाता है। मुलहठी का 6 फीट ऊँचा बहुवर्षायु...